Bewafa Shayari 2020: Bewafa Shayari In Hindi – August 2020

Samet Kar Le Jao Apne Jhoothe Vaadon Ke Adhure Kisse,
Agli Mohabbat Mein Tumhein Phir Inki Zarurat Padegi.

समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के अधूरे क़िस्से
अगली मोहब्बत में तुम्हें फिर इनकी ज़रूरत पड़ेगी।

 

Tum Agar Yaad Rakhoge Toh Inayat Hogi,
Varna Humko Kahan Tum Se Shikayat Hogi,
Yeh Toh Wahi Bewafa Logon Ki Dunia Hai,
Tum Agar Bhool Bhi Jaao Toh Riwayat Hogi.

तुम अगर याद रखोगे तो इनायत होगी,
वरना हमको कहाँ तुम से शिकायत होगी,
ये तो वही बेवफ़ा लोगों की दुनिया है,
तुम अगर भूल भी जाओ जो रिवायत होगी।

 

Jo Hukum Karta Hai Wo Iltija Bhi Karta Hai,
Aasman Bhi Kahin Jakar Jhuka Karta Hai,
Aur Tu Bewafa Hai Toh Yeh Khabar Ye Bhi Sun Le,
Intezaar Mera Koi Waha Bhi Karta Hai.

जो हुकुम करता है वो इल्तज़ा भी करता है,
आसमान भी कहीं जाकर झुका करता है,
और तू बेवफा है तो ये खबर भी सुन ले,
इन्तज़ार मेरा कोई वहाँ भी करता है।

Jab Tak Na Lage Bewafai Ki Thokar,
Har Kisi Ko Apni Pasand Par Naaz Hota Hai.

जब तक न लगे बेवफाई की ठोकर,
हर किसी को अपनी पसंद पर नाज़ होता है।

Pages: 1 2 3 4 5

Comments 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *