Bewafa Shayari 2020: Bewafa Shayari In Hindi – August 2020

दिया है जो इलज़ाम तूने बेवफ़ा सनम,
मेरी साफ़ मुहब्बत पर,
लगाये बैठे हैं इसे अपने सीने से हम,
प्यार की निशानी समझकर।

Diya Hai Jo Iljaam Tune Bewafa Sanam,
Meri Saaf Muhabbat Par,
Lagaye Baithe Hain Ise Apne Seene Se Ham,
Pyar Ki Nishani Samjhkar.

 

Bewafai Ka Mujhe… Jab Bhi Khayaal Aata Hai,
Ashq Rukhsaar Par Aankhon Se Nikal Jate Hain.

बेवफ़ाई का मुझे… जब भी ख़याल आता है,
अश्क़ रुख़सार पर आँखों से निकल जाते हैं।

 

Kahan Se Laaun Wo Shabd Jo Teri Tareef Ke Qabil Ho,
Kahan Se Laaun Wo Chand Jisme Teri Khoobasurti Shamil Ho,
Ai Mere Bewafa Sanam Ek Baar Bata De Mujhko,
Kahan Se Laaun Wo Kismat Jismen Tu Bas Mujhe Hansil Ho.

कहाँ से लाऊं वो शब्द जो तेरी तारीफ के क़ाबिल हो,
कहाँ से लाऊं वो चाँद जिसमें तेरी ख़ूबसूरती शामिल हो,
ए मेरे बेवफा सनम एक बार बता दे मुझकों,
कहाँ से लाऊं वो किस्मत जिसमें तू बस मुझे हांसिल हो।

 

Roye Kuchh Iss Tarah Se Mere Jism Se Lagke Wo,
Aisa Laga Ke Jaise Kabhi BeWafa Na The Wo!

रोये कुछ इस तरह से मेरे जिस्म से लग के वो,
ऐसा लगा कि जैसे कभी बेवफा न थे वो।

Pages: 1 2 3 4 5

Comments 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *